Depression से बाहर कैसे निकले | depression se bahar kaise nikale

Depression से बाहर कैसे निकले


जादा तर लोग बहुत तुटे हुंये होते हैं। बहुत निराश होते हैं, सिर्फ एक चीज बोलते है, मैं इस समस्या से बाहर नहीं आ पाऊंगा, टुट चुके होते हैं, हर चुके होते हैं। Depression से टुट जाना चारो तरफ यही बाते की जाती है। Depression एक मानसिक अस्वस्था हैं, Lifestyle में तुम्हे Problem हैं, वो सबकी वजह से आप प्रेशर में हो....
तनाव हे बाहर कैसे निकले हिंदी में image
Depression image

दुनिया में ऐसा कोई Problem नही हैं, जिसका कोई इलाज ना हो। Depression का भी इलाज हैं, आप Depression से आप बाहर आ सकते हैं।आप ये मत समझे की जिंदगी में आप के आप कुच नहीं बचा हैं, की नही जी पायेगें,सब कुछ होते हुये भी आप अाच्छे से नही जी सकते जो आपने भ्रम बनाया हैं, तो पहिले उसे निकाल दीजिये।
Depression को ठीक करने के लिये कई सारे उपाय हो लेकीन सबसे पहिले जरुरी है आपने आप मे एक संकल्प करना आपको अपने आप भरोसा करना आपको ये निश्चय करना है, की मुझे इस अवस्था से बाहर निकलना हैं, जिंदगी को जिना हैं, मेरे परिवार के लिये जिना हैं, मेरे लिये जिना हैं, मेरे बाच्चो के लिये जिना हैं,और भगवान ने जो ये मुझे जीवन दिया उसके लिये मुझे जिना हैं। मुझे पुरे आनंद के साथ जिना हैं।
Depression मानसिक समस्या हैं, अगर आपने चाहा तो इससे बाहर निकलकर आप एक अाच्चे इंसान बन सकते हैं, और अगर आपने प्रयास कुच भी नहीं किया तो जिंदगी भी बरबाद हो सकती हैं। Depression दो प्रकार का होता है, जैसे हमारे जीवन के कुच ऐसे घटना ये घडती हैं, जैसे किसी नजदीक व्यक्ती की मौत, प्यार में धोका, नोकरी का चला जाना, शादी का तूट जाना, या इससे भी अलग कारण हो सकते हैं।
और दुसरा जो हैं, हमारे जीवन मे छोटी छोटी घटनाये घडती हैं, जिसे उदाहरण के साथ बता देते हैं, आपके हाथ में एक कडी लगी हो, उसे और एक कडी जुड जाए, फिर और एक,ऐसा करते करते वो पुरे शरीर को घेर लेता है, ऐसा ही कुच हमारे साथ होता है, एक एक घटना घडती हैं, सारे चीजो के बारे मे हम सोचते हैं, Depression में जाने का मुख्य कारण होता है, बोहोत जादा सोचना, सोचना, विचार करना अच्ची बात है, लेकीन हद से जादा कोई भी चीज आच्छी नही होती।
 Depression मे जादा तर लोग Negative ही सोचते,हम ऐसा नही बोलेंगे की Negative सोचना बंद करो, क्योकी अगर आप ऐसा प्रयास भी करेंगे तो आपके मन में, विचार चालू ही रहेंगे, इसमे आप सिर्फ ये कर सकते हैं की जो आपके मन में नकारात्मक विचार हैं, उसे सकारात्मक के लाने का प्रयास किजिये...।।।
हमें जो चीजे पसंद है, जिससे हमारा मन प्रसन्न होता हो, जिससे हमें खुशी मिलती हो, तो चीजे करो। ताकी आपके मन को अच्छा मेहसुस हो, कभी कभी Depression में बोहोत आकेला मेहसुस होता है। किसिसे बात करने का मन नही करता, तो इसलिए आपके जो hobbies हैं, ओ किजिए, जैसे किसिको Music सुनना पसंद होता है। कीसिको Drowning करना अच्छा लगता है, तो वो किजीये, जिससे आपको थोडा Better Feel होगा और आप आपने विचारो से बाहर आ सकेंगे।
ताकी आपको Negative विचारो से बाहर आने में मदत मिलेगी।
आपको आप को अगर आप काम में व्यस्त रखते हो तो भी आपके मन में नकारात्मक विचार नहीं आयेंगे, तो जब कभी आप Depression में होते हो, तो ये जरूर करना, साच्छे और आच्छे लोगो के संपर्क में रहे। ताकी आपको Motivation मिल सके, 
जिंदगी में किसी चमत्कार होने की सोच ना रखिये, की एक दीन कुच ऐसा होगा,और मैं वैसा बन जाऊंगा। याद रखे बडा Large छोटे छोटे small से ही बनता हैं....।।।





टिप्पणियां